fbpx

IASbaba’s TLP – 2020 Phase 1: UPSC Mains General Studies Questions[9th Dec,2019] – Day 46

  • IASbaba
  • December 9, 2019
  • 0
TLP-UPSC Mains Answer Writing
Print Friendly, PDF & Email

IASbaba’s TLP – 2020 Phase 1 : UPSC Mains General Studies Questions[9th Dec,2019] – Day 46

Archive

Hello Friends,

Welcome to IAS UPSC, TLP- 2020, Day 46. Questions are based on General Studies Paper 2, Social Sector and Development

Click on the links and then answer respective questions! 


1. Examine the factors behind the rising prices of onions in India. What are the usual interventions that the government makes to tackle sudden spikes in food commodities? Examine.

भारत में प्याज की बढ़ती कीमतों के पीछे कारकों की जांच करें। सरकार ने खाद्य वस्तुओं में अचानक होने वाले अवरोधों से निपटने के लिए कौन से सामान्य हस्तक्षेप किए हैं? जांच करें।


2. With regards to India’s unique position with respect to its demography, examine the significance of skilling the young population. What measures have been taken by the government in this direction? Examine.

जनसांख्यिकी के परिप्रेक्ष्य भारत की अद्वितीय स्थिति के संबंध में, युवा आबादी के कौशल विकास करने के महत्व की जांच करें। इस दिशा में सरकार ने क्या उपाय किए हैं? जांच करें।


3. What are the current bottlenecks in India’s higher education sector that act as severe impediments to the potential that Indian universities possess. What measures has the government taken to address those impediments? Discuss.

भारत के उच्च शिक्षा क्षेत्र में मौजूदा अड़चनें क्या हैं जो भारतीय विश्वविद्यालयों के लिए संभावित बाधाओं के रूप में कार्य करती हैं। उन बाधाओं को दूर करने के लिए सरकार ने क्या उपाय किए हैं? चर्चा करें।


4. Government can only be an enabler of change in a sector. Do you agree? In this light, critically evaluate the turn that India’ public policy discourse has taken over the last few years.

किसी भी क्षेत्र में सरकार केवल एक परिवर्तन का साधन हो सकती है। क्या आप सहमत हैं? इस प्रकाश में, पिछले कुछ वर्षों में भारत की सार्वजनिक नीति प्रवचन के बदलते स्वरुप का समालोचनात्मक मूल्यांकन करें।


5. Identification of beneficiaries for government schemes has always been a tricky issue in India. Comment. Do you think ‘exclusion’ works far better as a criteria for identification than ‘inclusion’? Critically examine.

सरकारी योजनाओं के लिए लाभार्थियों की पहचान भारत में हमेशा से एक मुश्किल मुद्दा रहा है। टिप्पणी करें। क्या आपको लगता है किबहिष्करण‘, ‘समावेशनकी तुलना में पहचान के मापदंड के रूप में कहीं बेहतर है? समालोचनात्मक जांच करें।

For a dedicated peer group, Motivation & Quick updates, Join our official telegram channel – https://t.me/IASbabaOfficialAccount

Search now.....