fbpx

DAILY CURRENT AFFAIRS IAS | UPSC Prelims and Mains Exam (हिंदी) – 30th JULY 2020

  • IASbaba
  • August 5, 2020
  • 0
Hindi Initiatives
Print Friendly, PDF & Email

Archives

Table of Contents


(PRELIMS + MAINS FOCUS)


नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति

New National Education Policy

Part of: GS Prelims and Mains II- शिक्षासरकार की योजनाएं और नीतियां

समाचार में:

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति – (प्रमुख बिंदु)

  • यह कई प्रवेश और निकास विकल्पों के साथ चार वर्षीय स्नातक डिग्री प्रस्तुत करेगा
  • नई शिक्षा नीति के तहत एम.फिल. (M.Phil) की डिग्री को समाप्त कर दिया गया है।
  • यह निजी और सार्वजनिक दोनों संस्थानों के लिए शुल्क निर्धारण के साथ एक सामान्य उच्च शिक्षा नियामक स्थापित करेगा
  • यह 2030 तक 3 से 6 वर्ष की आयु की प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल और शिक्षा के सार्वभौमिकरण को भी बढ़ाता है
  • यह कक्षा 6 से कूट संकेतन और व्यावसायिक अध्ययन (coding and vocational studies) के साथ एक नए स्कूल पाठ्यक्रम और कक्षा 5 तक की शिक्षा के लिए मातृभाषा/ स्थानीय या क्षेत्रीय भाषा को अध्यापन के माध्यम के रूप में अपनाने पर बल दिया गया है,
  • कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं को रट्टा प्रणाली के बजाय मुख्य दक्षताओं का परीक्षण करना आसान होगा, सभी छात्रों को दो बार परीक्षा देने की अनुमति होगी
  • नई शिक्षा नीति 2020 बनाम 1986 नीतिएक प्रमुख बदलाव 10 + 2 प्रारूप से 5 + 3 + 3 + 4 पाठ्यक्रम और शैक्षणिक संरचना का पालन किया जाना है।

क्या आप जानते हैं?

  • कैबिनेट ने मानव संसाधन और विकास मंत्रालय (MHRD) का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय भी कर दिया है। एमएचआरडी को अब शिक्षा मंत्रालय कहा जाएगा  
  • 34 वर्षों में यह पहली नवीन शिक्षा नीति है
  • इसरो के पूर्व प्रमुख के.कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में एक पैनल ने दिसंबर 2018 में एक शिक्षा नीति का मसौदा प्रस्तुत किया गया था
  • शिक्षा एक समवर्ती सूची का विषय है। 

स्रोत: The Hindu

भाषा की पद्धति:

  • नई शिक्षा नीति तीन भाषाओं की पद्धति में अधिक लचीलापन प्रदान करती है, और किसी भी राज्य पर कोई भाषा लागू नहीं की जाएगी
  • बच्चों द्वारा सीखी गई तीन भाषाएं राज्यों, क्षेत्रों और निश्चित रूप से छात्रों की पसंद होंगी, इसलिए इसमें तीन भाषाओं में से कम से कम दो भारत की मूल देशी भाषा होंगी 
  • संस्कृत को स्कूल और उच्च शिक्षा के सभी स्तरों पर एक विकल्प के रूप में पेश किया जाएगा
  • अन्य शास्त्रीय भाषाएँ भी संभवतः ऑनलाइन मॉड्यूल के रूप में उपलब्ध होंगी, जबकि विदेशी भाषाओं को माध्यमिक स्तर पर प्रस्तुत किया जाएगा

नए पाठयक्रम की रूपरेखा

  • स्कूलपूर्व और आंगनवाड़ी वर्षों सहित एक नये पाठयक्रम का ढाँचा पेश किया जाएगा
  • फ़ाउंडेशन लिटरेसी एंड न्यूमेरसी पर, एक राष्ट्रीय मिशन 2025 तक कक्षा 3 स्तर पर बुनियादी कौशल का लक्ष्य सुनिश्चित करेगा
  • छात्रों के लिए कक्षा 6 के बाद से कूट संकेतन के साथसाथ व्यावसायिक गतिविधियों पर कक्षाएं शुरू होंगी
  • आदिवासी और स्वदेशी ज्ञान सहित भारतीय ज्ञान प्रणालियों को एक सटीक और वैज्ञानिक तरीके से पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा

शासन सुधार

  • स्कूली शासन में सार्वजनिक और निजी दोनों स्कूलों को विनियमित करने के लिए एक नए मान्यता प्राप्त प्रत्यायन ढांचा और एक स्वतंत्र प्राधिकरण स्थापित किया गया है
  • संस्थानों के बीच स्थानांतरण को आसान बनाने के लिए एक अकादमिक बैंक ऑफ क्रेडिट की स्थापना की जाएगी
  • कॉलेज संबद्धता प्रणाली को अगले 15 वर्षों में समाप्त किया जा रहा है, ताकि हर कॉलेज एक स्वायत्त डिग्री देने वाली संस्था या विश्वविद्यालय के एक घटक कॉलेज के रूप में विकसित हो।

डिजिटल शिक्षा को आगे बढ़ाना 

  • नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति मेंप्रौद्योगिकी के समान उपयोगको सुनिश्चित करने के लिए डिजिटल शिक्षा पर एक नया खंड स्थापित किया गया है।
  • विद्यालय और उच्च शिक्षा दोनों की शिक्षा संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए शिक्षा मंत्रालय के भीतर डिजिटल अवसंरचना, सामग्री और क्षमता निर्माण के समन्वय के लिए एक समर्पित इकाई का सृजन किया जाएगा।

स्रोत: The Hindu

नामांकन अनुपात

  • नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति स्कूलों में सार्वभौमिक पहुंच पर जोर देती है
  • इसका उद्देश्य दो करोड़ स्कूली बच्चों को शैक्षिक मुख्यधारा में वापस लाना है
  • इसका लक्ष्य उच्च शिक्षा में सकल नामांकन अनुपात को दोगुना करना है, जिसमें व्यावसायिक शिक्षा, 2018 में 26.3% से 2035 तक 50%, अतिरिक्त 3.5 करोड़ नई सीटें शामिल हैं।
  • इसे प्राप्त करने के लिए, जीडीपी व्यय जीडीपी के वर्तमान 4.43% से बढ़कर 6% होगा  

लिंगसमावेशन निधि

  • केंद्र द्वारा सभी लड़कियों और ट्रांसजेंडर छात्रों को समान गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान करने की देश की क्षमता का निर्माण करने के लिएलिंगसमावेशन निधिकी स्थापना
  • राज्यों के लिए यह कोष केंद्र सरकार द्वारा महत्वपूर्ण प्राथमिकताओं को लागू करने के लिए उपलब्ध होगा, ताकि महिला और ट्रांजेन्डर बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने में सहायता दी जा सके (जैसे स्वच्छता और शौचालय, साइकिल, शर्तसहः नकदी अंतरण आदि)

नटेसा, एक दुर्लभ बलुआ पत्थर मूर्ति (Natesa, a rare sandstone idol)

Part of: GS Prelims and Mains I – कला और संस्कृति

समाचार में:

  • नटेसा, एक दुर्लभ बलुआ पत्थर की मूर्ति, जो तस्करी की गई थी 22 साल बाद भारत  वापस लाया गया हैं। 
  • इस प्रतिमा में राजस्थान की 9 वीं शताब्दी की प्रतिहार शैली में शिव का चित्रण है।
  • इसका संबंध मूल रूप से घाटेश्वर मंदिर, बरौली, राजस्थान से था
  • नटेसा मूर्ति के दाहिने पैर के पीछे नंदी का एक सुंदर चित्रण दिखाया गया है।

स्रोत:: The Hindu


बुडापेस्ट सम्मेलन या यूरोपीय परिषद के साइबर अपराध पर कन्वेंशन

Budapest Convention or Convention on Cybercrime of the Council of Europe

Part of: GS Prelims and Mains II and III – अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनसाइबर सुरक्षा

इसके बारे में:

  • साइबर क्राइम पर कन्वेंशन, जिसे साइबर क्राइम पर बुडापेस्ट कन्वेंशन या बुडापेस्ट कन्वेंशन के नाम से भी जाना जाता है, यह पहली अंतरराष्ट्रीय संधि है, जिसमें राष्ट्रीय क़ानूनों के बीच सामंजस्य, जांच तकनीकों में सुधार और राष्ट्रों के बीच सहयोग बढ़ाने के द्वारा इंटरनेट और कंप्यूटर अपराध (साइबर अपराध) को संबोधित करने की मांग की गयी है। 
  • यह साइबर क्राइम के खिलाफ व्यापक राष्ट्रीय कानून विकसित करने वाले किसी भी देश के लिए एक दिशा निर्देश के रूप में और इस संधि के लिए राष्ट्र पक्षों के बीच अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के लिए एक रूपरेखा के रूप में कार्य करता है।
  • बुडापेस्ट कन्वेंशन में कंप्यूटर सिस्टम के माध्यम से नस्लवादी और ज़ेनोफोबिक सामग्री के प्रसार को अपराध माना गया हैं

विरोध प्रदर्शन एक मौलिक अधिकार है: संयुक्त राष्ट्र

Protesting is a fundamental right: UN

Part of: GS Prelims and Mains II and III – अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन 

इसके बारे में:

  • राजनीतिक अधिकारों और जातीय न्याय जैसे मुद्दों पर प्रदर्शन, शांतिपूर्वक, ऑनलाइन या व्यक्तिगत रूप से विरोध करना, एक मौलिक मानव अधिकार है।
  • नागरिक और राजनीतिक अधिकारों पर अंतर्राष्ट्रीय प्रसंविदा का अनुच्छेद 21-शांतिपूर्ण सभा के अधिकार की गारंटी देता है।

नागरिक और राजनीतिक अधिकारों पर अंतरराष्ट्रीय प्रसंविदा (ICCPR)

  • यह संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा अपनाई गई एक बहुपक्षीय संधि है
  • ICCPR की निगरानी संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार समिति द्वारा की जाती है
  • यह प्रसंविदा अपने पक्षकारों के लिए जीवन के अधिकार, धर्म की स्वतंत्रता, वाक स्वातंत्र्य, सभा की स्वतंत्रता, समुचित प्रक्रिया के लिए निर्वाचन अधिकार और अधिकार सहित व्यक्तियों के सिविल और राजनीतिक अधिकारों का सम्मान करने के लिए करती है।
  • आर्थिक,सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों (ICESCR) के संबंध में अंतरराष्ट्रीय प्रसंविदा तथा मानव अधिकारों के सार्वभौमिक घोषणा पत्र (UDHR) का हिस्सा है।
  • यह 1976 में प्रभावी हुआ।

भारत और एआईआईबी (AIIB

Part of: GS Prelims and Mains II – भारत और विश्वअंतर्राष्ट्रीय / बहुपक्षीय संगठन

इसके बारे में:

  • चीनसमर्थित एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) एकगैरराजनीतिकसंस्था के रूप में कार्य करने और भारत में परियोजनाओं का समर्थन जारी रखने के लिए। 
  • COVID19 से प्रभावित कमजोर परिवारों को सहारा देने के लिए भारत का नवीनतम ऋण 750 मिलियन डॉलर का था। 

मुख्य तथ्य:

  • भारत को बैंक से सबसे अधिक धन प्राप्त हुआ ($ 4.35 बिलियन)
  • 2016 में भारत 57 संस्थापक सदस्यों में से एक है
  • चीन (26.06%) के बाद भारत इसका दूसरा सबसे बड़ा शेयरधारक (7.62% मतदान शेयर के साथ) है
  • AIIB का मुख्यालय बीजिंग में है

विद्या वारिधि योजना

Vidya Varadhi scheme

Part of: GS Prelims and Mains II – शिक्षासरकार की योजनाएं और पहल

इस योजना  के बारे में:

  • COVID-19 महामारी के कारण छात्रों को ऑनलाइन कक्षाओं की चुनौतियों का सामना करने के लिए, स्कूल शिक्षा विभाग नेविद्या वारिधियोजना का प्रस्ताव दिया।
  • विद्या वारिधि योजना के तहत, ऑडियोविजुअल गैजेट्स से लैस मोबाइल क्लासरूम सभी क्षेत्रों तक पहुँचेंगी, जहां छात्रों को कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्टिविटी की कोई सुविधा नहीं है।
  • वाहन दूरदराज के इलाकों में पहुँचेंगे और शिक्षा प्रदान करेंगे।

स्रोत: The Hindu


डेयरी क्षेत्र में एंटीबायोटिक का उपयोग

Antibiotic use in the dairy sector

Part of: GS Mains II – स्वास्थ्य / सामाजिक मुद्दा

प्रसंग:

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट (CSE) की रिपोर्ट के अनुसार

  • डेयरी किसान अंधाधुंध रूप से एंटीबायोटिक्स का उपयोग करते हैं जैसे कि मास्टिटिस (गाय के थन में सूजन), डेयरी पशुओं में एक आम बीमारी हैं
  • दूध में शेष एंटीबायोटिक्स अवशेष चिंता का कारण हैं (एंटीबायोटिक प्रतिरोध)
  • दूध सीधे उपभोक्ताओं को बेचा जाता है तथा पैकेट में बिकने वाले प्रसंस्कृत दूध में भी एंटीबायोटिक अवशेषों की जाँच नहीं किया जाता है

क्या आप जानते हैं?

  • भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक है
  • दुस्र्पयोग करने वाले एंटीबायोटिक्स, इसके खिलाफ एक कानून के बावजूद, एक पंजीकृत पशु चिकित्सक के पर्चे (प्रेस्क्रिप्शन) के बिना आसानी से उपलब्ध हैं और खेतों में स्टॉक किए जाते हैं।

विविध

भारतीय धामिन सांप (धामन सांप )

Indian Rat Snake

इंडियन रैट स्नेक के बारे में:

  • इंडियन रैट स्नेक विषहीन होता है तथा सामान्यतः हमला नहीं करता है।
  • रैट स्नेक को कृषक मित्र भी कहा जाता है क्योंकि यह कृन्तकों (चूहों) को खेतों से हटाने में सहायता करता है और शहरी बस्तियों में भी ऐसा ही करता है
  • धामिन के नाम से प्रसिद्ध भारतीय धामिन सांप (पीट म्यूकोसा) दक्षिण और दक्षिण एशिया में व्यापक रूप से पाया जाता  है।
  • यह भूमि, खुले मैदानों, खेतों, तटीय क्षेत्रों, मीठे पानी या खारे पानी की झीलों के अनुकूल होता है।

भारतऑस्ट्रेलिया प्रवासी

India-Australia diaspora

प्रवासियों के बारे में:

  • 2019-2020 में 38,000 से अधिक भारतीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक बन गए, जिससे पिछले वर्ष की तुलना में 60% की वृद्धि हुई हैं। 
  • भारतीय सबसे बड़े प्रवासी समूह हैं जिन्हें ऑस्ट्रेलियाई नागरिकता दी गई है
  • ऑस्ट्रेलिया की 2016 की जनगणना के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में 6,19,164 लोगों ने घोषणा की कि वे भारतीय वंश मूल से संबंधित थे
  • ऑस्ट्रेलियाई आबादी का 2.8% भारतीय हैं

(MAINS FOCUS)


साइबर सुरक्षा/ शासन/ अंतरराष्ट्रीय

विषय: सामान्य अध्ययन 2,3:

  • साइबर सुरक्षा की मूल बातें 
  • विभिन्न क्षेत्रों में विकास और उनके डिज़ाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न मुद्दों के लिए सरकार की नीतियां  और हस्तक्षेप।
  • भारत के हितों पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव।

साइबर असुरक्षा के बीच ऑर्डर के लिए एक खोज

A quest for order amid cyber insecurity

प्रसंग: COVID -19 के बीच व्यक्तियों, संगठनों और राज्यों से संबंधित साइबर अपराध की संख्या में भी वृद्धि हो रही है

क्या आप जानते हैं?

  • इस बीच, Apple, Amazon और Microsoft ने 2020 की शुरुआत के बाद से बाजार मूल्य में एक ट्रिलियन डॉलर से अधिक का निवेश किया है। 
  • अप्रैल 2020 में एक सप्ताह में, कथित तौर पर COVID-19 से संबंधित 18 मिलियन से अधिक दैनिक मैलवेयर और फ़िशिंग मेल थे

दुनिया भर में साइबर हमलों के बढ़ते उदाहरण

  • ट्विटर हैकर्स ने पूरे सार्वजनिक अवलोकन में $ 120,000 एकत्र किए
  • कैलिफ़ोर्निया में एकरैनसमवेयरने चुपचाप 116.4 बिटकॉइन या $ 1.14 मिलियन का भुगतान किया।
  • चीन पर अमेरिका में कोरोनोवायरस उपचार पर काम करने वाले स्वास्थ्य देखभाल संस्थानों में, हैकिंग करने का आरोप लगाया गया है।
  • यूनाइड किंगडम ने रूसी राज्य को कोविड-19 टीका शोध के लिए दवा कंपनियों को लक्ष्य बनाने पर हैकर्स को चेतावनी दी है।

मुद्दे

  • साइबर सुरक्षा पर अपर्याप्त ध्यान: हमारे महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे में डिजिटल वृद्धि हुई है, लेकिन यह साइबर स्पेस के लिए पर्याप्त सुरक्षा उपायों के साथ मेल नहीं खाता है
  • कोई ग्लोबल कॉमन्स नहीं: बॉर्डरलेस साइबर स्पेस, “वैश्विक कॉमन्सके एक भाग के रूप में मौजूद नहीं है।  इंटरनेट भौतिक बुनियादी ढांचे पर निर्भर करता है जो राष्ट्रीय नियंत्रण में है, और इसलिए सीमा नियंत्रण के अधीन है।
  • विभिन्न अभिकर्ता (Multiple Players): साइबर स्पेस में कई हितधारक होते हैं, ये सभी राज्य नहीं होते। गैरराज्य अभिकर्ता महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैंकुछ सौम्य, कुछ घातक होते हैं 
  • नियमन में कठिनाइयाँ: अलगअलग दृष्टिकोणों के साथ इंटरनेट की संरचना जो कई राज्यों के क्षेत्राधिकार में आती है।  इसके अलावा, कई नेटवर्क निजी हैं, जो उन राज्यों से भिन्न उद्देश्यों के साथ होते हैं।
  • प्रतिस्पर्धी रुचियां और अ-असंरचित मानदंड (Competing Interests & Unframed Norms): विश्वसाइबर मानदंडोंकी तलाश में एक महत्वपूर्ण स्तर पर है जो राष्ट्रीय संप्रभुता और अंतरराष्ट्रीय कनेक्टिविटी की प्रतिस्पर्धी मांगों को संतुलित कर सकता है।
  • संयुक्त राष्ट्र एजेंडा: 1998 में कि रूस ने संयुक्त राष्ट्र एजेंडे में अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा में आईसीटी के मुद्दे पर जोर दिया।  इस विषय पर काम करने वाली विभिन्न समितियों के बावजूद, इंटरनेट गवर्नेंस, जासूसी और डिजिटल गोपनीयता जैसे मुद्दों को बाहर रखा गया है
  • विशेषज्ञों का डोमेन: आमतौर पर प्रौद्योगिकी का विकास संबद्ध मानदंडों और संस्थानों के विकास से आगे है।  परिणामस्वरूप, साइबरस्पेस एक विशिष्ट स्थान है जिसका विनियमन काफी हद तक विशेषज्ञों के लिए छोड़ दिया गया है।

भारत के लिए आगे की राह 

  • विश्व स्तर पर, भारत को साइबर मानदंडों को आकार देने में भाग लेने की आवश्यकता है।
  • बुडापेस्ट कन्वेंशन, या यूरोप काउंसिल के साइबर अपराध पर कन्वेंशन (CETS No.185), एक विकल्प है जो भारत को जांचना चाहिए।
  • भारत को उद्योगकेंद्रित प्रक्रियाओं में और अधिक शामिल होने के लिए निजी क्षेत्र को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है जैसे कि माइक्रोसॉफ्ट द्वारा शुरू किया गया साइबरस्पेस टेक एकॉर्ड और सीमेंस के नेतृत्व वाला चार्टर ऑफ ट्रस्ट।

निष्कर्ष

भारतीय जीवन में साइबर स्पेस अनिवार्य रूप से बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में है, हमें इसके विभिन्न आयामों की गहन सार्वजनिक समझ विकसित करने की आवश्यकता है।  साइबरस्पेस अत्यधिक महत्वपूर्ण है, जिसे केवल विशेषज्ञों के लिए छोड़ दिया गया है।

Value Addition

क्राइस्टचर्च कॉल:

  • क्राइस्टचर्च कॉल टू एक्शन समिट (जिसे क्राइस्टचर्च कॉल भी कहा जाता है), न्यूजीलैंड की प्रधान मंत्री द्वारा मार्च 2019 में न्यूजीलैंड के क्रिस्चर्च में शूटिंग के बाद शुरू हुआ एक राजनीतिक शिखर सम्मेलन था।
  • कॉल का उद्देश्य आतंकवाद और हिंसक चरमपंथ को संगठित करने और बढ़ावा देने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग करने की क्षमता को समाप्त करने के प्रयास में देशों और तकनीकी कंपनियों को एक साथ लाने का था।
  • भारत ने गैरबाध्यकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं

पर्यावरण/ शासन/ स्वास्थ्य

विषय: सामान्य अध्ययन 2,3:

  • संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और गिरावट 
  • विभिन्न क्षेत्रों में विकास और उनके डिज़ाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न मुद्दों के लिए सरकार की नीतियां  और हस्तक्षेप।

कम प्रजातियाँ, अधिक बीमारी (Fewer species, more disease)

प्रसंग: COVID-19 प्रेरित लॉकडाउन ने लोगों को घर के अंदर रखा है तथा जंगली जानवरों के लिए उन स्थानों पर घूमने के अवसर प्रदान किए हैं जहाँ वे अन्यथा नहीं निकलते थे।

क्या आप जानते हैं?

  • यह अभी तक पूरी तरह से समझा नहीं जा सका है कि किस प्रजाति ने कोविड-19 के संचरण में योगदान दिया है और कैसे।
  • हालांकि, विशेषज्ञों के अनुसार, इस बात के ठोस साक्ष्य हैं कि यह चीन के वुहान में एक वन्यजीव बाजार से फैला है। दो परिकल्पनाओं पर चर्चा की गई है:
    • (a) वायरस का चमगादड़ से सीधे मनुष्यों में स्थानांतरण हो गया;
    • (b) चमगादड़ से पैंगोलिन और फिर मनुष्यों में 

यह समय प्रकृति पर मानव क्रियाकलापों के लिए पुनः सोचने का है

  • वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि महामारी के उद्भव का जैव विविधता के नुकसान के साथ मजबूत संबंध हैं, और वन्यजीव व्यापार में वृद्धि हुई है।
  • विकास और कृषि के लिए भूमि को खाली करने के लिए, जंगलों और आवासों को नष्ट कर दिया गया है।  इस प्रक्रिया में, पारिस्थितिकी तंत्र क्षतिग्रस्त, खंडित या नष्ट हो रहे हैं और परिणामस्वरूप, दुनिया में कई प्रजातियों  लुप्त हो गई है। 
  • जंगली पौधों और जानवरों की तस्करी संगठित अपराध के सबसे बड़े रूपों में से एक बन गया है जो वन्यजीव और पारिस्थितिकी तंत्र के लिए खतरा बन गया है।
  • प्रजाति का विनाश पारंपरिक चीनी दवाओं के निर्माण के लिए नई अवैध तकनीकों के साथ संगठित व्यापार नेटवर्क द्वारा प्रजातियों का सफाया किया जा रहा है।
  • मानव-प्रेरित पर्यावरण परिवर्तन, मानवप्रेरित पर्यावरणीय परिवर्तन जैव विविधता को कम करते हैं जिसके परिणामस्वरूप वैक्टर और / या रोगजनकों की नई परिस्थितियाँ बनती हैं
  • प्रकृति के नाजुक संतुलन को बिगाड़कर, प्रकृति के नाजुक संतुलन को बिगाड़कर, हमने जानवरों से मनुष्यों में वायरस के प्रसार के लिए आदर्श स्थिति निर्मित की है।

आगे की राह

  • जैव विविधता का मुख्य आधार हमारे कोविड-19  पश्चात् विकास कार्यक्रम में आवश्यक है।
  • दीर्घकालिक दृष्टिकोण: राष्ट्रों को जैव विविधता के लिए 2050 की दृष्टि को साकार करने की दिशा में काम करना चाहिए, ‘प्रकृति के साथ सद्भाव में रहना चाहिए
  • एकीकृत दृष्टिकोण: समाज कोएक स्वास्थ्य’ (one health) दृष्टिकोण को अपनाना चाहिए जिसमें लोगों के स्वास्थ्य, जंगली और घरेलू पशुओं तथा पर्यावरण के स्वास्थ्य पर विचार एक साथ हो।
  • सख्त निगरानी: अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को उच्च जोखिम वाले वन्यजीव बाजारों को सख्ती से विनियमित करने की आवश्यकता है जो जैव विविधता को खतरा पैदा करते हैं।
  • हरित अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना: सरकारों को हरित नौकरियों को बढ़ावा देना चाहिए और कार्बनतटस्थ अर्थव्यवस्थाओं को प्राप्त करने की दिशा में काम करना चाहिए।
  • कार्यकारी क्रिया: भारत को सख्ती से लागू करना चाहिए 
    • वन्य जीवन (संरक्षण) अधिनियम, 1972, जिसमें वन्य जीवों/पौधों और उनके व्युत्पन्न की 1,800 प्रजातियों के व्यापार को निषिद्ध किया गया है
    • 2002 की जैविक विविधता अधिनियम
    • राष्ट्रीय जैव विविधता लक्ष्य सहित रणनीतियाँ और कार्य योजनाएँ;
    • राष्ट्रीय जैव विविधता मिशन
  • बड़े पैमाने पर जैव विविधता साक्षरता: लोगों को यह महसूस करना चाहिए कि हम ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां जैव विविधता हमारी साझी विरासत और प्राकृतिक पूँजी है।

निष्कर्ष

पारिस्थितिक तंत्र की अखंडता बीमारियों को नियंत्रित करेगी तथा एक प्रजाति से दूसरे में रोगजनकों के संचरण को सीमित करेगी।

Connecting the dots:

  • सतत विकास लक्ष्य
  • पशुजन्य रोग

(TEST YOUR KNOWLEDGE)


मॉडल प्रश्न: (You can now post your answers in comment section)

ध्यान दें

  • आज के प्रश्नों के सही उत्तर अगले दिन के डीएनए सेक्शन में दिए जाएंगे। कृपया इसे देखें और अपने उत्तरों को अपडेट करें।
  • Comments Up-voted by IASbaba are also the “correct answers”.

Q.1) निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. नटेसा (redstone) लाल पत्थर से निर्मित है
  2. इसमें 9 वीं शताब्दी में गुजरात की प्रतिहार शैली में शिव को दर्शाया गया है
  3. यह मूल रूप से घाटेश्वर मंदिर से संबंधित था

उपरोक्त कथनों में से कौन सा सही हैं?

  1. केवल 3
  2. 2 और 3
  3. 1 और 3
  4. 1, 2 और 3

Q.2) बुडापेस्ट कन्वेंशन के बारे में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:

  1. यह राष्ट्रीय क़ानूनों के सामंजस्य, जांच तकनीकों में सुधार और राष्ट्रों के बीच सहयोग बढ़ाने के द्वारा इंटरनेट और कंप्यूटर अपराध को संबोधित करना चाहता है
  2. भारत सम्मेलन का पक्षकार है।

सही कथनों का चयन करें

  1. केवल
  2. केवल 2
  3. दोनों 1 और 2
  4. तो 1 और ही 2

Q.3) नागरिक और राजनीतिक अधिकारों पर अंतर्राष्ट्रीय प्रसंविदा (ICCPR) के बारे में, निम्नलिखित कथन पर विचार करें 

  1. यह संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अपनाई गई एक बहुपक्षीय संधि है
  2. इसकी निगरानी संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार समिति करती है

उपरोक्त कथनों में से कौन सा सही हैं?

  1. केवल
  2. केवल 2
  3. दोनों 1 और 2
  4. तो 1 और ही 2

Q.4) निम्नलिखित को ध्यान में रखते हुए:

  1. एडजुटेंट सारस (Adjutant stork)
  2. दो सींग वाले गैंडे (Two horned rhino)
  3. भारतीय नाग (Rattle snake)

उपरोक्त में से कौन, भारत में स्वाभाविक रूप से पाया जाता है?

  1. केवल 1
  2. केवल 2 और 3
  3. केवल 1 और 2
  4. केवल 1 और 3

Q.5) एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) के संबंध में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करें

  1. भारत और जापान AIIB के संस्थापक सदस्य हैं
  2. इसका मुख्यालय बीजिंग, चीन में है
  3. AIIB के सभी सदस्यों के पास समान मताधिकार मूल्य (equal voting rights) हैं, जो आईएमएफ प्रणाली के विपरीत है।

उपयुक्त कूट चुनें

  1. केवल
  2. केवल 1
  3. केवल 2 और 3
  4. 1, 2 और 3

ANSWERS FOR 29th July 2020 TEST YOUR KNOWLEDGE (TYK)

1 C
2 C
3 C
4 A
5 A
6 C

अवश्य पढ़ें 

डिजिटल विश्व को आकार देने के बारे में:

The Hindu

भारत, अमेरिका और ब्राजील में महामारी संकट का विश्लेषण करने के बारे में:

The Hindu

महामारी के दौरान वैज्ञानिकों की प्रतिष्ठा के बारे में: 

The Indian Express

For a dedicated peer group, Motivation & Quick updates, Join our official telegram channel – https://t.me/IASbabaOfficialAccount

Search now.....