fbpx

DAILY CURRENT AFFAIRS IAS | UPSC Prelims and Mains Exam (हिंदी) – 16th JULY 2020

  • IASbaba
  • July 26, 2020
  • 0
Hindi Initiatives
Print Friendly, PDF & Email

IASBABA’S INTEGRATED LEARNING PROGRAMME (ILP)

Archives


(PRELIMS + MAINS FOCUS)


चीन स्टडी ग्रुप (CSG) की भूमिका

Part Of: GS Prelims and Mains II

संदर्भ:

  • भारतचीन गतिरोध से निपटने वाले लेखों को पढ़ते हुए, हम अक्सर सरकार के उच्चशक्ति निकाय, “चाइना स्टडी ग्रुप (CSG)” का संदर्भ पाते हैं, जो LAC के साथ मौजूदा स्थिति की समीक्षा और चर्चा करने के लिए अक्सर बैठक करते हैं।

चाइना स्टडी ग्रुप (सीएसजी) क्या है?

  • यह एक सरकारी संस्था है, जिसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल करते हैं, जिसमें कैबिनेट सचिव, गृह, विदेश, रक्षा सचिव और सेना के प्रतिनिधि सदस्य के रूप में हैं।
  • सीएसजी(CSG) की स्थापना 1976 में कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) ने चीन से संबंधित नीतिगत मुद्दों पर सलाह देने के लिए किया था।
  • इसका नेतृत्व शुरू में विदेश सचिव द्वारा किया गया था और अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार इसका नेतृत्व कर रहे है।

सीएसजी (CSG) के कार्य या उद्देश्य

सीएसजी (CSG) की स्थापना 1975-1976 में के.आर. नारायणन (K.R. Narayanan) के अधीन एक दोहरे उद्देश्य के साथ की गई थी।

  1. यह चीनभारतीय सीमा पर स्थिति की समीक्षा करने, और 
  2. सीमा के मुद्दे पर चीन के साथ बातचीत की तैयारी में सहायता करने के लिए किया गया था। 

1997 में भारत के उत्तरी और पूर्वी सीमांतों के साथ चीन द्वारा किए गए एलिवेटेड रोड और ट्रैक निर्माण कार्य के मद्देनज़र, सीएसजी का गठन किसी भी आक्रामकता के मामले में सैनिकों की तेज और सुचारु आवाजाही के लिए चीन सीमा पर सड़क संचार की आवश्यकता का अध्ययन करने के लिए किया गया था। 

अध्ययन के अंत में सीएसजी(CSG) ने भारतचीन सीमा सड़कों (ICBRs) के निर्माण के लिए चीन सीमा पर रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण 73 सड़कों की पहचान की

क्या आप जानते हैं?

  • सीमा सड़क संगठन (BRO), आईसीबीआर(ICBR) सड़क निर्माण कार्यो का अधिकांश हिस्सा संभालता है।
  • आईसीबीआर (ICBR) के निर्माण के लिए कई अन्य संस्थाएं भी उत्तरदायी हैंजैसे एनएचएआई (NHAI), एमओडीईआर (MoDNER), केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (CPWD), राष्ट्रीय परियोजना निर्माण निगम (NPCC) आदि।

भारतयूरोपीय संघ: व्यापार वार्ता

Part Of: GS Prelims and Mains II – भारत और यूरोपीय संघ के संबंध; अंतर्राष्ट्रीय संबंध

समाचार में:

  • भारतयूरोपीय संघ (EU) ने हाल ही में एक वर्चुअल समिट का आयोजन किया था।

प्रमुख परिणाम:

  1. भारत और यूरोपीय संघ 2025 तक रणनीतिक सहयोग की रूपरेखा के लिए प्रतिबद्ध हैं। (भारतयूरोपीय संघ रणनीतिक साझेदारी के लिए पांच साल का रोड मैप
  2. दोनों ने कोरोनावायरस महामारी और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रति अपनी प्रतिक्रिया पर सहयोग करने का वचन दिया।
  3. मुक्त व्यापार समझौते (द्विपक्षीय व्यापार और निवेश समझौते) पर वार्ता को पुनर्जीवित करना जो 2013 से निलंबित कर दिया गया था।
  4. यूरेएटम (EURATOM) और परमाणु ऊर्जा विभाग के बीच असैन्य परमाणु अनुसंधान और विकास सहयोग समझौता।
  5. सहयोग के क्षेत्रों में और सर्वोत्तम अभ्यासों का आदानप्रदान करें, तथा अन्य पांच वर्षों के लिए अपने विज्ञान और प्रौद्योगिकी समझौते को नवीनीकृत करना चाहिए।

भारतयूरोपीय संघ के अभिसरण (convergence) के क्षेत्र:

  • भारत और यूरोपीय संघ प्राकृतिक साझेदार हैं।
  • भारतयूरोपीय संघ की साझेदारी वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है।
  • दोनों देश लोकतंत्र, बहुलवाद, अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं और बहुपक्षीयता के प्रति सम्मान परसार्वभौमिक मूल्योंको साझा करते हैं।
  • जलवायु परिवर्तन से निपटने और व्यापार के निर्माण में समान रुचि साझा करते हैं।
  • यूरोपीय संघ भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है, जबकि भारत यूरोपीय संघ का नौवां सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है

भारतयूरोपीय संघ के क्षेत्रों में अलगाव:

  • यूरोपीय संघ के नेतृत्व ने जम्मूकश्मीर की स्थिति के साथसाथ नागरिकता संशोधन अधिनियम पर चिंता जताई थी।
  • यूरोपीय संघ नेआत्मनिर्भर भारतनारे के लिए भारत केसंरक्षणवादीस्वर पर चिंता व्यक्त की है। 

संसदीय स्थायी समिति ने गृह मंत्रालय से प्रवासियों का डाटाबेस तैयार करने को कहा

Part Of: GS Prelims and Mains II – सामाजिक और कल्याणकारी योजनाएं; संसदीय समितियां

समाचार में:

  • गृह मामलों की संसदीय स्थायी समिति ने सरकार को प्रवासी कामगारों का राष्ट्रीय डाटाबेस स्थापित करने की सलाह दी ताकि वे सामाजिक सुरक्षा कवच से बाहर हो जाए। 
  • समिति ने कहा कि राज्यों और जिलों के बीच बेहतर समन्वय से प्रवासी कामगारों के बड़े पैमाने के पलायन को रोका जा सकता था।
  • समिति के अनुसार, COVID19 महामारी से सबक लेना चाहिए जिसने अभूतपूर्व उत्क्रम प्रव्रजन (unprecedented reverse migration) देखा।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

Part Of: GS Prelims and Mains II and III – क्षेत्रीय समूह/ संगठन; अर्थव्यवस्था


एशियाई विकास बैंक के  बारे में :

  • एशियाई विकास बैंक (ABD) 19 दिसंबर 1966 को स्थापित एक क्षेत्रीय विकास बैंक है, जिसका मुख्यालय मनीला, फिलीपींस में है। 
  • एडीबी (ADB) का उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है।
  • एशियाई विकास बैंक, संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग के एशिया और पैसिफिक (UNESCAP) और गैरक्षेत्रीय विकसित देशों के सदस्यों को स्वीकार करता है। 

क्या आप जानते हैं?

  • एडीबी (ABD) को विश्व बैंक की तर्ज पर बारीकी से चित्रित किया गया था, और इसमें भी विश्व बैंक के समान भारित मतदान प्रणाली है।
  • एडीबी (ABD) की स्थापना में एडीबी (ADB) के 31 सदस्यों थे, और अब एडीबी (ADB) के पास 68 सदस्य हैं।
  • एडीबी (ADB) एक आधिकारिक संयुक्त राष्ट्र पर्यवेक्षक है।
  • भारत 1966 में एशियाई विकास बैंक (ADB) का संस्थापक सदस्य था और अब बैंक का चौथा सबसे बड़ा शेयरधारक और शीर्ष उधारकर्ता है।

31 दिसंबर 2019 तक, एडीबी(ADB) के पांच सबसे बड़े शेयरधारक जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका (प्रत्येक कुल शेयरों के 15.6% के साथ), पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना (6.4%), भारत (6.3%), और ऑस्ट्रेलिया (5.8%) हैं।

समाचार में:

  • एडीबी (ADB) ने घोषणा की थी, कि उसने चुनाव आयुक्त अशोक लवासा को निजी क्षेत्र के संचालन और सार्वजनिक निजी भागीदारी के लिए अपना उपाध्यक्ष (VP) नियुक्त किया है।

जनसंख्या पर लैंसेट अध्ययन

Part Of: GS Prelims and Mains I and II – जनसंख्या मुद्दे; सामाजिक/कल्याण के मुद्दे

समाचार में:

लैंसेट अध्ययन के अनुसार

  • विकास की मौजूदा दर पर भारत की आबादी 2047 तक करीब 1.61 अरब पर पहुंचने की संभावना है, तथा फिर 2100 तक 1.03 अरब तक कम हो जाएगी।
  • भारत में जनसंख्या में गिरावट केवल 2046 के आसपास होने की उम्मीद है।
  • भारत सबसे अधिक आबादी वाला देश रहेगा।
  • 2100 में पांच सबसे बड़े देश (अनुमानित हैं) भारत, नाइजीरिया, चीन, अमेरिका और पाकिस्तान होंगे।

क्या आप जानते हैं?

  • विश्व की आबादी 2061 तक करीब 9.73 अरब पर पहुंचने की संभावना है, और फिर 2100 तक 8.79 अरब तक कम हो जाएगी।
  • जनसंख्या में गिरावट को इस आधार पर समझा जा सकता है कि विश्व स्तर पर सभी महिलाओं को गर्भनिरोधक और शिक्षा के लिए बहुत अधिक पहुंच होगी।
  • कुल प्रजनन दर (TFR) 2.1 से कम है, जिससे देश की आबादी में गिरावट आएगी।

खाद्य सुरक्षा पर सोफी (SOFI) 2020 की रिपोर्ट

Part Of: GS Prelims and Mains I and II – गरीबी; सामाजिक/कल्याण के मुद्दे; खाद्य सुरक्षा

समाचार में:

विश्व में खाद्य सुरक्षा और पोषण राज्य (SOFI) 2020 की रिपोर्ट के अनुसार

  • विश्व 2030 तक जीरो हंगर (शून्य भुखमरी) के लक्ष्य को पूरा करने की सही मार्ग पर नहीं है।
  • COVID19 द्वारा आर्थिक मंदी के कारण इस वर्ष वैश्विक स्तर पर लगभग 8-13 करोड़ लोगों के भूखे रहने की संभावना है।
  • 2019 में विश्व भर में लगभग 690 मिलियन लोग भूखे रह गए। (2018 में 1 करोड़ तक)
  • 2014 के बाद से भूख में वृद्धि जारी है और कुपोषण की वैश्विक व्यापकता, या भूखे लोगों का समग्र प्रतिशत 8.9% है।
  • एशिया में कुपोषित (38 करोड़) लोगों की सबसे बड़ी आबादी है। अफ्रीका दूसरे (25 करोड़), इसके बाद लैटिन अमेरिका और कैरिबियन (4.8 करोड़) हैं।

अन्य तथ्य:

वर्तमान अनुमानों के अनुसार, 2019 में,

  • 5 साल से कम उम्र के 21.3% (14.4.करोड़) बच्चे स्टंटेड (आयु के अनुसार लंबाई में कमी) थे।
  • 6.9% (4.7 करोड़) वेस्टेड (लंबाई के अनुसार वज़न में कमी) और
  • 5.6% (3.8 मिलियन) अधिक वजन (overweight)
  • एक स्वस्थ आहार की लागत ₹143 (या $ 1.90/दिन) से अधिक है जो अंतरराष्ट्रीय गरीबी सीमा है।

क्या आप जानते हैं?

  • SOFI रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन, कृषि विकास के लिए अंतरराष्ट्रीय कोष, यूनिसेफ़(UNICEF), विश्व खाद्य कार्यक्रम और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सालाना जारी की गई एक संयुक्त रिपोर्ट है।
  • यह वैश्विक और क्षेत्रीय स्तर पर खाद्य असुरक्षा, भुखमरी और कुपोषण पर नवीनतम अनुमान प्रस्तुत करती है।
  • 2020 संस्करण यह संकेत देता रहता है कि खाद्य असुरक्षा और कुपोषण के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण चुनौतियाँ अपने सभी रूपों में विघमान हैं।

भारतरूस संबंध:

Part Of: GS Prelims and Mains II – भारत और रूस संबंध; अंतर्राष्ट्रीय संबंध

समाचार में:

रूस में भारतीय दूत ने कहा

  • भारत चाहता है कि, हिंदप्रशांत क्षेत्र में रूस की उपस्थिति अधिक हो। ( भारत रूस को एक बहुत महत्वपूर्ण प्रशांत शक्ति मानता है)
  • रूस को इस क्षेत्र में अपने हितों की ओर देखना चाहिए और इससे सहयोग तथा बातचीत के लिए पारस्परिक आधार तैयार होगा

हाल के घटनाक्रम:

  • वियतनाम के तेल और गैस क्षेत्र में भारतीय और रूसी निवेश को सहयोग के रूप में माना जा सकता है। 
  • भारत चाहता है कि हिंदप्रशांत क्षेत्र हर किसी के लिए स्वतंत्र और निष्पक्ष हो।
  • एक स्थिर इंडोपैसिफिक, रूस के लिए विशेष रूप से आर्कटिक से व्लादिवोस्तोक तक तथा व्लादिवोस्तोक से चेन्नई तक प्रस्तावित ऊर्जा पुल के लिए विशेष महत्व रखता है।

क्या आप जानते हैं?

  • वियतनाम के अनन्य आर्थिक क्षेत्र (EEZ) में भारतीय तेल ब्लॉकों के करीब ओवरलैपिंग दावों के कारण दक्षिण चीन सागर में चीन और वियतनाम के बीच गतिरोध होता रहा है
  • रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इस वर्ष के अंत में भारत की यात्रा करेंगे जो भारतरूस रणनीतिक साझेदारी के 20वें वर्ष के साथ मेल खाता है

विविध:

चीन पर अमेरिकी प्रतिबंध

समाचार में:

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हांगकांग पर चीन के शिकंजे को लेकर वित्तीय हब के विशेषाधिकारयुक्त व्यापार व्यवहार को समाप्त कर दिया है तथा बैंकों पर अधिकृत प्रतिबंधों को आरोपित किया है।
  • ट्रंप प्रशासन के मुताबिक, हांगकांग को अब मुख्य भूमि, चीन के समान माना जाएगा, कोई विशेष विशेषाधिकार नहीं दिया जायेगा, कोई विशेष आर्थिक व्यवहार और संवेदनशील प्रौद्योगिकियों का कोई निर्यात नहीं होगा।
  • चीन ने जवाबी कार्रवाई करने और प्रासंगिक अमेरिकी कर्मियों और संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाने को कहा है।

गूगल ने जियो (JIO) प्लेटफॉर्म्स में 7.7% की हिस्सेदारी हासिल की

समाचार में:

  • रिलायंस जियो (JIO) अगले साल भारत में 5जी तकनीक प्रसारित करेगा।
  • जियो (JIO) और गूगल अपनी साझेदारी में एंड्राइड (android) ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ सस्ते एंट्री लेवल 4G या  5G स्मार्ट फोन भी बनाएँगे।
  • गूगल ने जियो (JIO) प्लेटफॉर्म्स में 7.7% हिस्सेदारी हासिल करने के लिए ₹33,737 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की है।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड अपने रिटेल और पेट्रोकेमिकल कारोबारों के लिए इसी तरह से पूँजी जुटाने पर विचार कर रही है।

मुख्य बिंदु:

  • जियो ने आरंभ (scratch) से लेकर संपूर्ण 5G सॉल्यूशन डिज़ाइन और डेवलप किया है। (मेडइनइंडिया 5G समाधान)
  • गूगल ने हाल ही में घोषणा की थी कि वह भारत में 10 अरब डॉलर का फंड निवेश करेगा।
  • इसलिए जियो(JIO) में निवेश पहला और सबसे बड़ा निवेश होगा जो गूगल भारत में करेगा।

(मुख्य लेख)


अंतर्राष्ट्रीय/ अर्थव्यवस्था

विषय: सामान्य अध्ययन 2,3:

  • भारत के हितों पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव 
  • महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएं, एजेंसियाँ और उनकी संरचना, अधिदेश। 

भारत को ईयू (EU) में विश्वास करना चाहिए

संदर्भ: कोविड पश्चात् विश्व में, भारत के लिए यह तय करने की चुनौती होगी कि वह किस साझेदार के साथ अपनी भूराजनीतिक पूँजी का निवेश करे। 

यूरोपीय संघ और भारत में बहुत कुछ समान है, जैसे :

  • दोनों का उद्देश्य रणनीतिक स्वायत्तता और उनकी वैश्विक स्थिति को बढ़ाना है।
  • रणनीतिक मूल्य श्रृंखला में विविधता लाने की आवश्यकता (चीनीकेंद्रवाद को समाप्त करना) है। 
  • जलवायु परिवर्तन का संबोधन। 

 भारतयूरोपीय संघ के संबंधों का महत्व

  • यूरोपीय संघ नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था (जिसका भारत भी समर्थन करता है) को समर्थक है।
  • भूराजनीतिक दृष्टि से भारत को चीन जैसे शक्तिशाली प्रतिद्वंद्वी का सामना करना पड़ रहा है। 
  • यूरोपीय संघ जैसी समान विचारधारा वाली, लोकतांत्रिक शक्तियों के साथ एक मजबूत सहयोग भारत को भूराजनीति में प्रभावी रूप से अपने प्रतिद्वंद्वी का सामना करने में मदद कर सकता है

भारत और यूरोपीय संघबढ़ती आर्थिक साझेदारी का प्रारंभ (ओपनिंग

  • यूरोपीय संघ भारत का पहला व्यापारिक साझेदार है और सबसे बड़ा विदेशी निवेशक है, जिसमें € 67.7 बिलियन का निवेश 2018 में किया गया था (कुल एफडीआई (FDI) प्रवाह का 22%)
  • हालांकि, 2018 में यूरोपीय संघ ने चीन में € 175.3 बिलियन का निवेश किया था। 
  • COVID के बाद की दुनिया में, भारत के लिए यूरोपीय संघ के निवेश को आकर्षित करने की गुंजाइश है, जो कि चीन से बाहर निकल सकता है।

 भविष्य में संबंधों को बढ़ाने के लिए क्या कदम उठाने चाहिए

  1. दोनों पक्षों को आपसी विश्वास की कमी को दूर करना चाहिए
  • आपसी समझ में सुधार के लिए लोगों की गतिशीलता और कनेक्टिविटी को सुगम बनाने की आवश्यकता है।
  1. स्थिर मुक्त व्यापार समझौते (FTA) वार्ताओं को तेज करने की आवश्यकता है।
  • यूरोपीय संसद के एक नए अध्ययन में दोनों पक्षों के बढ़े हुए व्यापार से €8 अरब और €8.5 अरब के बीच लाभ हुआ है, जो यूरोपीय संघभारत व्यापार समझौते के संभावित प्रभाव का नतीजा है।
  1. जलवायु परिवर्तन पर सहयोग
  • अपनी नई औद्योगिक रणनीति, ग्रीन डील के माध्यम से, यूरोपीय संघ 2050 तक महाद्वीप के कार्बन उत्सर्जन को स्थिरता प्रदान करने के लिए अपने महत्वाकांक्षी लक्ष्य के अनुसार निर्माण कर रहा है।
  • भारत ने पेरिस जलवायु समझौते में महत्वाकांक्षी लक्ष्यों की भी घोषणा की है।
  • इस प्रकार, दोनों देश अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रौद्योगिकी के मोर्चे पर सहयोग कर सकते हैं।
  1. बहुपक्षीय संस्थानों में सुधार
  • यूरोपीय संघ और भारत को बहुपक्षीय संस्थानों में सतत सुधार को बढ़ावा देने के लिए सैन्य सहयोग करना चाहिए, जिसमें विश्व व्यापार संगठन (WTO) में भी सहयोग शामिल हो

निष्कर्ष

भारत को COVID के बाद की दुनिया में विदेश नीति में  उचित कदम उठाने चाहिए ताकि वैश्विक शक्ति समीकरणों की प्राप्ति के कारण अपने हितों से समझौता किया जाए।

 Connecting the dots:

  • यूरोपीय संघ और ASEAN – उनकी संरचनाओं में अंतर
  • बहुपक्षीय संगठनों पर COVID-19 का प्रभाव

अर्थव्यवस्था/ शासन/ अंतर्राष्ट्रीय

विषय: सामान्य अध्ययन 2,3:

  • भारतीय अर्थव्यवस्था तथा योजना, संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास और रोजगार से संबंधित विषय। 
  • भारत के हितों पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव 

 भारत में गूगल (Google) का निवेश

संदर्भअमेरिकी तकनीकी कंपनी गूगल नेगूगल फॉर इंडिया डिजिटाइजेशन फंडके माध्यम से आने वाले पांच से सात वर्षों में भारत में 10 अरब डॉलर का निवेश करने की योजना की घोषणा की है।

 निवेश पर होगा फोकस

  • अधिक इंटरनेट गुणवत्ता प्राप्त करने के लिए अधिक उच्च गुणवत्ता वाले तथा कम लागत वाले स्मार्ट फोन बाजार में लाना।
  • उपभोक्ता प्रौद्योगिकी, शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि में नए उत्पादों और सेवाओं का निर्माण करना।
  • छोटे और मध्यम व्यवसायों को डिजिटल रूप से बदलने के लिए सशक्त बनाना।

 निवेश का महत्व

  • यह कदम भारतीय और अमेरिकी टेक्नोलॉजी फर्म के बीच के समझौते को आगे बढ़ाने का संकेत देता है।
  • यह एक गंभीर वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच भी, भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था के आकर्षण को दर्शाता है।
  • निवेश की अधिक आवश्यकता ऐसे समय में है जब भारतीय अर्थव्यवस्था गहरी मंदी के बीच है।

विश्व में क्या व्यापक बदलाव हो रहा है?

  • गूगल का यह फैसला अमेरिका और चीन के बीच टेक्नोलॉजी वर्ल्ड में अनबन के संकेतों के साथसाथ व्यापक बदलाव का भी संकेत दे रहे है।
  • भारत ने व्यापक रूप से इस्तेमाल किए जाने वाले चीनी ऐप TikTok पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया था और अमेरिका भी इसी तरह की कार्रवाई पर विचार कर रहा है।
  • अमेरिका भी देशों पर दबाव डाल रहा है कि वे चीनी कंपनी  हुवोई के उपकरणों को अपने 5G नेटवर्क से बाहर रखें।
  • ब्रिटेन ने 2020 के अंत के बाद अपने टेलीकॉम ऑपरेटरों द्वारा नए हुवोई (Huawei) उपकरणों की खरीद पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।
  • इन सभी को वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओ को फिर से संगठित करने की कोशिश करने वाले देशों में देखा जा सकता है, जो वर्तमान में चीन के आसपास केंद्रित है।

 निष्कर्ष

  • भारत सरकार को बढ़ते बाजार को गहरा और बड़ा करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए। 

Connecting the dots:

  • एफडीआई (FDI) के पक्ष और विपक्ष
  • डेटा संरक्षण पर जस्टिस बी. एन. श्रीकृष्ण समिति (B. N. Srikrishna Committee) की रिपोर्ट

(TEST YOUR KNOWLEDGE)


मॉडल प्रश्न: (You can now post your answers in comment section)

ध्यान दें

  • आज के प्रश्नों के सही उत्तर अगले दिन के डीएनए (DNA) सेक्शन में दिए जाएंगे। कृपया इसे देखें और अपने उत्तरों को अपडेट करें।
  • Comments Up-voted by IASbaba are also the “correct answers”

 Q.1) चाइना स्टडी ग्रुप (CSG) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें?

  1. यह भारतचीन संबंधों से जुड़े रणनीतिक अध्ययन और भूमि युद्ध पर एक स्वतंत्र या स्वायत्त थिंक टैंक है।
  2. यह राष्ट्रीय सुरक्षा मुद्दों, पारंपरिक सैन्य अभियानों और उपपारंपरिक युद्ध से निपटने के लिए चीनभारत युद्ध के ठीक बाद स्थापित किया गया था।

उपरोक्त में से कौन सा कथन सही है?

  1. केवल 1
  2. केवल 2
  3. 1 और 2 दोनों
  4. तो 1 और ही 2

Q.2) सूची I के साथ सूची II का मिलान करें तथा सूचियों के नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके सही उत्तर चुनें:

(सूची I-संसदीय समितियां) : (सूची II- शामिल सदस्य)

  1. लोक लेखा समिति           A) 22 सदस्य (15 लोकसभा से और 7 राज्यसभा से)
  2. आकलन समिति             B) 30 सदस्य (सभी लोकसभा से )
  3. स्थायी/ स्टैंडिंग समिति    C) 31 सदस्य (21 लोकसभा से और 10  राज्यसभा से )
  4. महिला सशक्तिकरण समिति       D) 30 सदस्य (20 लोकसभा से  और 10  राज्यसभा से )

कूट:

1-2-3-4

  1. A-B-C-D
  2. A-B-D-C
  3. B-A-D-C
  4. B-A-C-D

Q.3) एशियाई विकास बैंक (ADB) के बारे में, निम्नलिखित कथनों पर विचार करें। 

  1. एडीबी (ABD) एक क्षेत्रीय विकास संगठन है जो ऋण, अनुदान के माध्यम से एशिया और प्रशांत में गरीबी को कम करने के लिए समर्पित है, जिसका मुख्यालय बीजिंग में है।
  2. भारत एडीबी (ADB) का संस्थापक सदस्य है।

उपरोक्त में से कौन सा कथन सही है?

  1. केवल 1
  2. केवल 2
  3. 1 और 2 दोनों
  4. तो 1 और ही 2

ANSWERS FOR 15th July 2020 TEST YOUR KNOWLEDGE (TYK)

1 A
2 B
3 C
4 C
5 C

अवश्य पढ़ें

मुद्रास्फ़ीति के बारे में:

द हिंदू

COVID पश्चात् चीनी आक्रामकता के बारे में:

द हिंदू

चाबहार बंदरगाह रेल परियोजना के बारे में:

द इंडियन एक्सप्रेस

For a dedicated peer group, Motivation & Quick updates, Join our official telegram channel – https://t.me/IASbabaOfficialAccount

Search now.....