fbpx

DAILY CURRENT AFFAIRS IAS | UPSC Prelims and Mains Exam (हिंदी) – 24th JULY 2020

  • IASbaba
  • July 30, 2020
  • 0
Hindi Initiatives
Print Friendly, PDF & Email

Archives


(PRELIMS + MAINS FOCUS)


महिला अधिकारियों को सेना में स्थाई कमीशन

भागGS Prelims and Mains II and III –महिला सशक्तिकरण; लैंगिक समानता; समाज 

चर्चा में क्यों

  • हाल ही में केंद्र सरकार ने भारतीय सेना में महिला अधिकारियों कोस्थाई कमीशन’ (Permanent Commission) प्रदान करने के लिये औपचारिक सरकारी मंज़ूरी पत्र जारी किया है।
  • यह आदेश उन सभीशॉर्ट सर्विस कमीशन’ (Short Service Commission-SSC) से चयनित महिला अधिकारी सेना की सभी 10 शाखाओं/ विभागों मेंस्थायी कमीशन’ (Permanent Commission) प्राप्त करने के लिये पात्र होंगी, जिसमें वे वर्तमान में सेवा करते हैं।

क्या आप जानते हैं?

  • सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसले में शॉर्ट सर्विस कमीशनके तहत नियुक्त सभी महिला अधिकारियों के लिए स्थायी कमीशन का प्रावधान किया था। इसके अनुसार सरकार को निर्देश दिया गया था कि महिला अधिकारियों को गैरयुद्ध कमान पदों के सभी सेवाओं मेंस्थायी कमीशनऔर कमांड पोस्टिंग दी जाए। (न्यायपालिका की भूमिका)
  • सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के उन तर्कों को खारिज कर दिया कि महिलाएं शारीरिक रूप से पुरुषों की तुलना मेंसेक्स स्टीरियोटाइपके रूप में कमजोर होती हैं।
  • सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र सरकार की उन दलीलों को खारिज कर दिया कि महिलाएं शारीरिक रूप से पुरुषों की तुलना मेंसेक्स स्टिरियोटाइपके रूप में कमजोर हैं।
  • अदालत ने नोट में टिप्पणी को केवल संवैधानिक रूप से अमान्य, बल्कि भेदभावपूर्ण पाया, जिससे महिला अधिकारियों की गरिमा प्रभावित हुई।

Important value addition

पूर्वाग्रह और रूढ़िवादिता:

  • पूर्वाग्रह(prejudice)  का तात्पर्य किसी व्यक्ति या व्यक्तियों के समूह के प्रतिपूर्वनिर्णयहै, अर्थात् किसी मामले के तथ्यों की जाँच किये बिना ही राय बना लेना या मन में निर्णय ले लेना है।
  • रूढ़िवादिता (Stereotype) ऐसी विचारधारा है जो पारंपरिक मान्यताओं का अनुकरण तार्किकता या वैज्ञानिकता के स्थान पर केवल आस्था तथा प्रागनुभवों के आधार पर करती है।

उदाहरण के लिए, कुछ महिलाओं के प्रति पूर्वाग्रह है कि वे शरीरिक रूप से कमजोर होती हैं। इस अवधारणा ने समाज में उनकी भूमिका सीमित कर दी है और उनका समाज में प्रतिनिधित्व कुछ नौकरियों जैसेमहिलारिसेप्शनिस्ट, शिक्षक, नर्स आदि तक ही सीमित है।

  • पूर्वाग्रह और रूढ़िवादिता  समाज में सामाजिक असमानता और बहिष्कार को बढावा देती है।

उदाहरण के लिए, अगर महिलाओं को नर्सों, शिक्षकों और रिसेप्शनिस्ट के रूप में चित्रित किया जाता है, साथ ही वह IAS, IPS, अंतरिक्ष यात्री, राजनयिक, वैज्ञानिक और सैनिक बनने का कोई अवसर नहीं छोड़ती हैं।

गुंजन सक्सेना वर्ष 1996 से 2004 के बीच आठ वर्षों तक भारतीय वायु सेना में कार्यरत थी। कारगिल युद्ध के दौरान वीरता के लिए शौर्य चक्र प्राप्त करने वाली वह प्रथम महिला बनी।


बच्चों पर COVID का प्रभाव

भागGS Prelims and Mains II– बाल कल्याण; सामाजिक मुद्दा

चर्चा में क्यों

  • गरीब परिवारों के कई बच्चे कचरा बीन के या भीख मांग कर घर चला रहे हैं, क्योंकि उनके मातापिता लॉकडाउन के कारण नौकरी गंवा बैठे है।

क्या आप जानते हैं?

  • किशोर न्याय बच्चों की देखभाल एवं संरक्षण अधिनियम 2015 की धारा 76 बच्चों के द्वारा भिक्षावृत्ति मागने सम्बन्धी रोजगार पर प्रतिबंध लगाती है।

बाल अपराध में वृद्धि

  • बाल अपराध (Juvenile delinquency)- जब किसी बच्चे द्वारा कोई कानूनविरोधी या समाज विरोधी कार्य किया जाता है तो उसे किशोर अपराध या बाल अपराध कहते हैं। कानूनी दृष्टिकोण से बाल अपराध 8 वर्ष से अधिक तथा 16 वर्ष से कम आयु के बालक द्वारा किया गया कानूनी विरोधी कार्य है जिसे कानूनी कार्यवाही के लिये बाल न्यायालय के समक्ष उपस्थित किया जाता है।
  • स्कूलों को अस्थायी रूप से बंद होने के कारण, बच्चे पढ़ाई के बजाय काम करने में अधिक समय व्यतीत कर रहे हैं।

ब्रू रिआंग शरणार्थी संकट

भागGS Prelims and Mains I and II- सामाजिक मुद्दा; शरणार्थी मुद्दा; मानव भूगोलजातीय जनजातियाँ

चर्चा में क्यों

  • त्रिपुरा के गैरब्रू ने मिजोरम से विस्थापित ब्रू जनजाति को बसाने के लिए छह स्थानों का प्रस्ताव दिया है।
  • उन्होंने राज्य सरकार को परिवारों की संख्या को समायोजित करने के लिए एक सीमा निर्धारित करने का भी प्रस्ताव दिया।

ब्रू कौन हैं?

  • ब्रू, जिसे रिआंग ​​के नाम से भी जाना जाता है, मिज़ोरम में ब्रू समुदाय को अनुसूचित जनजाति का एक समूह तथा त्रिपुरा में 21 अनुसूचित जनजातियों में से एक अलग जाति समूह माना जाता है।

क्या आप जानते हैं?

  • मिजोरम से विस्थापित ब्रू आदिवासी 1997 से त्रिपुरा में शरणार्थी के रूप में रह रहे हैं।
  • 1997 में, ब्रू और बहुसंख्यक मिज़ो समुदाय के लोगों के बीच वर्ष सांप्रदायिक दंगा इनके पलायन का कारण बना और लगभग आधी ब्रू आबादी ने त्रिपुरा में शरण ली।
  • हाल ही में, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए जो अब मिजोरम से इन विस्थापित ब्रू आदिवासियों के लिए स्थायी रूप से त्रिपुरा में बसने का मार्ग प्रशस्त करता है।
  • ब्रू समुदाय का आवासीय क्षेत्र भारत मेंत्रिपुरा, मिजोरम और दक्षिणी असम के कुछ हिस्सों में फैला हुआ है। त्रिपुरा में ब्रू समुदाय सघन आबादी वाली जनजाति है।

ओपन क्रेडिट एनेबलमेंट नेटवर्क (OCEN)

भागGS Prelims and Mains III – अर्थव्यवस्था; निवेश

चर्चा में क्यों

  • इंडियन सोसाइटी प्रोडक्ट्स राउंड टेबल (ISPIRT) के तहत क्रेडिट के जनतंत्रीकरण के लिए नए विकसित क्रेडिट प्रोटोकॉल इन्फ्रास्ट्रक्चर को देशभर में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया है
  • क्रेडिट प्रोटोकॉल इन्फ्रास्ट्रक्चर, जिसे ओपन क्रेडिट एनेबलमेंट नेटवर्क (OCEN) के रूप में जाना जाता है, सभी बड़े बैंकों और NBFC सहित ऋण सेवा प्रदाताओं, आमतौर पर फिनटेक और मुख्यधारा के उधारदाताओं के बीच की बातचीत का मध्यस्थता करेगा।

प्रमुख बिंदु:

  • ओपन क्रेडिट एनेबलमेंट नेटवर्क, क्रेडिट नेटवर्क का जनतंत्रीकरण करेगा और छोटे व्यवसायों की मदद करेगा
  • OCEN अनिवार्य रूप से उधारदाताओं और उधारकर्ताओं के बीच एक आम भाषा के रूप में कार्य करता है। जिसका उपयोग वित्तीय ऋण उत्पादों को बनाने के लिए किया जाता है। 

भारत ने कश्मीर पर बांग्लादेश के रुख की सराहना की

भागGS Mains II – भारत और उसके पड़ोसी देशों से संबंध

चर्चा में क्यों

  • भारत ने कश्मीर के सभी घटनाक्रमों को भारत का अंदरूनी मामला बताने वाले बांग्लादेश के निरंतर रूख की बृहस्पतिवार को सराहना की
  • हाल ही में, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना के साथ फोन पर बातचीत के दौरान कश्मीर का मुद्द उठाया था।

क्या आप जानते हैं?

  • भारत और बांग्लादेश, बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान की याद में इस साल शताब्दी समारोह मुजीब वर्ष (शेख मुजीब उर रहमान की शताब्दी जयंती) मना रहे हैं।
  • शेख मुजीब ने 1971 में बांग्लादेश के निर्माण के समय पाकिस्तान विरोधी स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया था।

भारत और इज़राइल COVID19 के लिए तेजी से परीक्षण पर काम करेंगे

भागGS Mains II – भारत और इजरायल संबंध; अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

चर्चा में क्यों

  • इजरायल के रक्षा मंत्रालय के अनुसंधान और विकास दल और DRDO ने 30 सेकंड के भीतर COVID19 के लिए तेजी से परीक्षण विकसित करने के लिए काम करेंगे।
  • भारत में 30 सेकंड में रिजल्ट देने वाला रैपिड टेस्टिंग किट (Rapid testing kit) बनाने पर काम हो रहा है जिसमें इजरायल की एक एक्सपर्ट टीम (Isreali expert team) सहयोग कर रही है। यह एक्सपर्ट टीम अब भारत रही है।

क्या आप जानते हैं?

  • भारत में परीक्षण की जाने वाली तकनीकों में एक कृत्रिम बुद्धिमत्ता आधारित (artificial intelligence based) ऑनलाइन वॉयस टेस्ट (online voice test) और श्वासनली परीक्षण (breathalyser test), आइसोथर्मल परीक्षण और पॉलीमिनो एसिड का उपयोग शामिल हैं।
  • आइसोथर्मल परीक्षण (Isothermal testing) एक रासायनिक प्रतिक्रिया की मदद से लार के नमूने में वायरस का पता लगाता है और 30 मिनट के भीतर एक परिणाम प्राप्त होता है, जबकि पॉलियामिनो एसिड का उपयोग करके परीक्षण भी कुछ मिनटों में लार के नमूने में वायरस प्रोटीन का पता लगाया जाता है।

तंबाकू उत्पादों पर नई चेतावनी

भागGS Prelims and Mains II – स्वास्थ्य / सामाजिक मुद्दा; कल्याणकारी मुद्दा

चर्चा में क्यों

  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने सोमवार को तंबाकू उत्पादों पर प्रकाशित होने वाली स्वास्थ्य से संबंधित चेतावनी में संशोधन करते हुए इसकी अधिसूचना जारी की है। इसके लिए सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद (पैकेजिंग लेवलिंग) कानून-2008 में भी संशोधन किया गया है।
  • नियम के अनुसार, ‘एक सितंबर 2020 के बाद निर्मित, आयातित या पैकिंग किए जाने वाले सभी तंबाकू उत्पादों पर तस्वीर-1 का प्रदर्शन करना होगा। इसी प्रकार एक सितंबर 2021 के बाद निर्मित, आयातित या पैकिंग किए जाने वाले सभी तंबाकू उत्पादों पर तस्वीर-2 का प्रदर्शन अनिवार्य होगा।
  • उपर्युक्त प्रावधान के उल्लंघन पर कारावास या जुर्माने के साथ दंड का भी प्रावधन है।

Important Value Additions:

  • भारत में, तंबाकू से सालाना लगभग एक लाख लोगों की मृत्यु होती है।
  • भारत ने 1 अप्रैल 2016 से सभी तंबाकू उत्पादों पर 85% बड़ी चित्रात्मक स्वास्थ्य चेतावनियां लागू की थी। हालांकि, तम्बाकू पैक से ग्लैमर और आकर्षण पैकेजिंग को हटा कर, सादे पैकेजिंग को अपनाना होगा।
  • सादा पैकेजिंग तंबाकू, तंबाकू उद्योग की ब्रांड वैल्यू बनने से रोकता है। मानक रंग और फ़ॉन्ट शैली में प्रदर्शित ब्रांड और उत्पाद नाम के अलावा, यह लोगो, रंग, ब्रांड या प्रचार जानकारी के उपयोग को प्रतिबंधित करता है।
  • भारत ने ऑस्ट्रेलिया और यूके जैसे अन्य देशों द्वारा कार्यान्वित किए गए कई प्रारंभिक कदम उठाए हैं, उदाहरण के लिए, सादे पैकेजिंग, ससक्त धूम्रपान मुक्त कानून, तंबाकू विज्ञापन पर प्रतिबंध, करों में वृद्धि आदि।
  • भारत द्वारा हस्ताक्षरित व्यापार और निवेश समझौते सार्वजनिक स्वास्थ्य से संबंधित अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मानदंडों के अंतर्गत हैं।

तिआनवेन 1(Tianwen1): चीन का मंगल मिशन

भागGS Prelims – विज्ञान और प्रौद्योगिकीअंतरिक्ष मिशन

चर्चा में क्यों

  • चीन ने अपना सबसे महत्वाकांक्षी मंगल मिशन शुरू किया। उसने रोवर मिशन टू मार्स के तहत अपना तिआनवेन 1 रॉकेट लॉन्च किया।(हैनान द्वीप, चीन की मुख्य भूमि के दक्षिण में)
  • यदि मिशन सफल हो जाता है, तो चीन लाल ग्रह पर एक अंतरिक्ष यान को सफलतापूर्वक उतारने वाले क्लब में अमेरिका के साथ शामिल हो जाएगा। 
  • तिनानवेन शब्द का अर्थ स्वर्ग से प्रश्न पूछना होता हैयह भूमिगत जल और संभावित प्राचीन जीवन के साक्ष्य की खोज करेगा।

क्या आप जानते हैं?

  • मंगल पर उतरना बेहद कठिन है। केवल अमेरिकी ने सफलतापूर्वक मंगल ग्रह की धरती पर एक अंतरिक्ष यान उतारा है, अमेरिका ने साल 2000 में स्पिरिट मिशन के तहत रोवर मंगल पर भेजा था।

विविध

भारत और चीन: सीमा विवाद  मुद्दा

चर्चा में क्यों

  • भारत ने चीन को LAC  पर  “ईमानदारबने रहने तथा पूर्व निर्धारित सीमाओं को पुनः बहाल करने के लिए कहा है।
  • भारत को को जल्द ही सीमा विवाद मुद्दा डीएस्केलेशन, और सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बहाली की उम्मीद है।
  • इस वर्ष चीनी सेनाओं द्वारा सीमावर्ती क्षेत्रों में सैन्य संचालन, जिसमें सैनिकों के एक बल की तैनाती के साथसाथ अनुचित और अस्थिर दावे शामिल हैं, यह सभी भारत और चीन आपसी समझौतों की पूर्ण अवहेलना है।

चीनअमेरिका: संबंधों में तीव्र गिरावट

चर्चा में क्यों

  • चीन ने चेतावनी दी कि अमेरिका ने उसके ह्यूस्‍टन (टेक्सास) स्थित वाणिज्‍यक दूतावास को बंद करने के आदेश के बाद उसे जवाब देने के लिए मजबूर किया है।
  • अमेरिका चीन के संबंधों में इस साल महामारी (pandemic) और टेलीकॉमगियर बनाने वाली कंपनी हुवाई (Huawei), दक्षिण चीन सागर में चीन के क्षेत्रीय दावों और हांगकांग पर उसके अधिकार सम्बन्धी मुद्दों पर तीव्र गिरावट आई है।
  • वर्तमान सन्दर्भअमेरिकी विश्वविद्यालयों में चीनी शोधकर्ताओं की गिरफ्तारी और वाणिज्य दूतावास को बंद करना।

(MAINS FOCUS)


अंतर्राष्ट्रीय / सुरक्षा

विषय:: GS Mains II & III

  • भारत और उसके पड़ोसी देशों से संबंध 
  • भारत के हितों पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव

भारतदक्षिण कोरिया संबंध

चर्चा में क्यों?

  • भारत और दक्षिण कोरिया के मध्य द्विपक्षीय समझौते अगले स्तर तक नहीं बढ़ पाए हैं

क्या आप जानते हैं?

  • कोरियाई बौद्ध भिक्षु ह्यचो (704–787 CE) या हाँग जिओ ने 723 से 729 ईस्वी तक भारत का दौरा किया तथाभारत के पांच राज्यों की तीर्थयात्राके बारे में लिखा, जो भारतीय संस्कृति, राजनीति और समाज का विशद वर्णन करती है।
  • प्रसिद्ध कोरियाई बौद्ध भिक्षु आगंतुक ह्येचो (704–787 CE) या हाँग जिओ ने 723 से 729 ईस्वी तक भारत की यात्रा की, उन्होंने चीनी, वांग ओछौनचुकगुक जौन यापांच भारतीय राज्यों की यात्रा के लेखमें अपनी यात्रा का एक यात्रा वृत्तांत लिखा। जो तात्कालिक भारतीय संस्कृति, राजनीति और समाज का वर्णन करती है।
  • नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर ने 1929 में कोरिया के गौरवशाली अतीत और इसके होनहार उज्ज्वल भविष्य के बारे में एक छोटी लेकिन उद्घाटित कविता –  ‘ लैंप ऑफ ईस्टकी रचना की है।

भारतदक्षिण कोरिया संबंध का संक्षिप्त इतिहास

  • कोरियाई युद्ध (1950- 53) के दौरान, भारत ने दोनों युद्धरत पक्षों के बीच हस्ताक्षरित संघर्ष विराम समझौते में एक प्रमुख भूमिका निभाई है और 27 जुलाई 1953 को युद्ध विराम घोषित किया गया।
  • दक्षिण कोरिया की अमेरिका के साथ अनुकूल संबंधो और भारत के द्वारा गुटनिरपेक्षता स्वीकार  करने या रूसी प्रभाव के कारण भारतदक्षिण कोरिया संबंध 1990 के दशक तक सकारात्मक रूप से नहीं बढ़ पाए।
  • भारत और दक्षिण कोरिया के बीच आर्थिक संबंध भारत में आर्थिक सुधारों के बादसकारत्मक रूप सेबढ़े जिसके कारण 2010 में व्यापक द्विपक्षीय आर्थिक साझेदारी समझौता (Comprehensive Economic Partnership Agreement -CEPA) पर हस्ताक्षर हुए।
  • भारत और दक्षिण कोरिया के बीच संबंधों को जनवरी 2010 में सामरिक भागीदारी के स्तर तक उठाया गया था और इसे 2015 में विशेष रणनीतिक साझेदारी में अपग्रेड किया गया था
  • दक्षिण कोरिया की नई दक्षिणी रणनीति (New Sauthern Policy) में भारत की एक प्रमुख भूमिका है जिसके तहत कोरिया अपने तत्काल क्षेत्र से परे संबंधों का विस्तार करना चाहता है।
  • इसी प्रकार, भारत की लुक ईस्ट पॉलिसी (Look East Policy) के माध्यम से अपने संबंधों को बढ़ावा दे रहा है। जिसका उद्देश्य आर्थिक सहयोग, सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा देना और एशियाप्रशांत देशों के साथ रणनीतिक संबंधों को विकसित करना है।

द्विपक्षीय संबंध के साथ चुनौतियां

  1. आर्थिक संबंधों में ठहराव
  • भारत और दक्षिण कोरिया के मध्य सालाना आर्थिक साझेदारी 22 बिलियन डॉलर है।
  • साथ ही, ऐसा प्रतीत होता है कि भारत और दक्षिण कोरिया रक्षा संबंध, रक्षा साझेदारी में बड़ी वार्ता की जगह केवल हथियार प्रणाली की बिक्री और खरीद तक ही सीमित है।
  1. दो सांस्कृतिक पूर्वाग्रह लोगों को लोगों (people-to-people ties) के बीच संबंधों को रोकते हैं
  • शीत युद्ध काल की धारणा (Cold War Era perception): तीसरी दुनिया के देश के रूप में भारत में व्याप्त गरीबी और भुखमरी के कारण के दक्षिण कोरियाई लोगों के बीच व्यापक धारणा हो सकती है।
  • भारतीय प्रवासी (Indian Diaspora): दक्षिण कोरिया की स्थानीय आबादी में भारतीयों का एकीकरण नस्लीय पूर्वाग्रह या भारतीयों के प्रति भेदभाव का उदाहरणों है।
  • कोरियाई संस्कृति की अपर्याप्त स्वीकार्यता (Inadequate acknowledgment of Korean Culture): कुछ हद तक भारतीय, दक्षिण कोरियाई लोगों की सांस्कृतिक और सामाजिक विशेषताओं से  जापानी / चीनी सांस्कृतिक और सामाजिक विशेषताओं में अंतर करने में असमर्थ हैं।
  • ये सभी भारत और दक्षिण कोरिया के मध्य आधारित रिश्ते में रोड़े के रूप में हैं।
  1. सांस्कृतिक केंद्रों की अधूरी क्षमता
  • भारत तथा कोरिया के बीच सांस्कृतिक आदानप्रदान बढ़ाने के लिये 10 साल पहले भारतीय सांस्कृतिक केंद्र (ICC) का गठन किया गया था।
  • हालांकि, अभी भी भारतीय सांस्कृतिक केंद्र (ICC) द्वारा इसे व्यापक रूप से लोंगो तक पहुँचाना होगा और साथ ही सियोल के शहरी, अंग्रेजी बोलने वाले अभिजात वर्ग से परे आम जनमानस तक इसका विस्तार करना होगा।
  • यह भारत में दक्षिण कोरियाई संस्कृति केंद्रों पर भी लागू होता है।

आगे की राह

  • इस क्षेत्र में शक्ति का संतुलन तेजी से परिवर्तित हो रहा है, भारत और दक्षिण कोरिया को अपने अस्तित्व की रक्षा करने के लिए एक दूसरे की आवश्यकता है।
  • हालांकि, दोनों देश एकदूसरे की मदद तभी कर पाएंगे, जब वे सांस्कृतिक अंतराल को भर सकें।

Connecting the dots:

  • उत्तर कोरिया के संदर्भ में चुनौतियां
  • 2018 में किम जोंगउन और ट्रम्प के मध्य सिंगापुर में ऐतिहासिक बैठक

अर्थव्यवस्था / शासन

विषय: सामान्य अध्ययन 3:

  • भारतीय अर्थव्यवस्था और संसाधनों, संवृद्धि, विकास और रोजगार की योजना, इससे संबंधित मुद्दे।
  • विभिन्न क्षेत्रों में विकास और उनके डिजाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न मुद्दों के लिए सरकार की नीतियों और हस्तक्षेप।

गैर व्यक्तिगत डेटा विनियमनभाग I (Non Personal Data regulation – Part I)

चर्चा में क्यों

  • हाल ही में, गैरव्यक्तिगत डेटा शासन ढांचे (“एनपीडी समिति“) पर विशेषज्ञों की समिति ने अपनी मसौदा रिपोर्ट जारी की है। इस समिति का गठन 13 सितंबर, 2019 को इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (“MeitY”) ने इंफोसिस के सहसंस्थापक क्रिस गोपालकृष्णन की अध्यक्षता में किया था।

गैरव्यक्तिगत डेटा क्या होता है ?

  • सरल और बुनियादी रूप में गैरव्यक्तिगत डेटा किसी भी प्रकार के डेटा का वह समूह होता है, जिसमें व्यक्तिगत रूप से पहचान योग्य कोई भी जानकारी शामिल नहीं होती है।
  • गैरव्यक्तिगत डेटा को देखकर अथवा उसका विश्लेषण कर किसी व्यक्ति विशिष्ट की पहचान करना संभव नहीं होता है।
  • उदाहरण के लिये किसी खाद्य वितरण सेवा प्रदान करने वाली कंपनी द्वारा मुख्य रूप से व्यक्ति का नाम, आयु, लिंग और अन्य संपर्क (Contact) संबंधी जानकारी मांगी जाती है। अब यदि डेटा के इस समूह से नाम और संपर्क संबंधी सूचना हटा दी जाए तो यह गैरव्यक्तिगत डेटा बन जाएगा और इसके आधार पर किसी व्यक्ति विशिष्ट की पहचान करना संभव नहीं होगा।

गैरव्यक्तिगत डेटा का महत्व

  • सार्वजनिक हित हेतु  उपयोग : कुछ बड़ी कंपनियों के वाणिज्यिक हितों की बजाय  केवल सार्वजनिक हित में डेटा को अनलॉक किया जाना चाहिए।
  • आर्थिक मूल्य: ये डेटा सेट उपभोक्ता पूर्वाग्रहों को मैप करने और सेवाओं की लक्षित डिलीवरी सुनिश्चित करने में मदद करेंगे। यह डाटा देश में आर्थिक मूल्य और नवाचार के वातावरण पैदा करने में मदद करेगा
  • सामुदायिक  विषय: डेटा, कई मामलों में, केवल व्यक्तिगत निर्णय लेने का विषय है, बल्कि पारिस्थितिक जानकारी जैसे मामलों में सामुदायिक विषय भी  हो सकता है।

ड्राफ्ट रिपोर्ट के महत्वपूर्ण बिंदु

  1. परिभाषा: रिपोर्ट ने गैरव्यक्तिगत डेटा को तीन मुख्य श्रेणियों में वर्गीकृत किया है, अर्थात्
  • सार्वजनिक गैरव्यक्तिगत डेटा: इसमें सरकार और उसकी एजेंसियों द्वारा सभी वित्त पोषित कार्यों के निष्पादन के दौरान एकत्र किए गए सभी डेटा शामिल हैं।
    • उदाहरण जनगणना, नगर निगम द्वारा कर रसीद के माध्यम एकत्र डेटा
  • सामुदायिक गैरव्यक्तिगत डेटा (Community Non-Personal Data)- सामुदायिक गैरव्यक्तिगत डेटा के अंतर्गत व्यक्तियों के एक विशिष्ट समूह से संबंधित डेटा को शामिल किया गया है
    • उदाहरणसार्वजनिक परिवहन संबंधी सेवा उपलब्ध कराने वाली कंपनियों, टेलीकॉम कंपनियों, बिजली वितरण कंपनियों आदि द्वारा एकत्र डेटा, सामुदायिक गैरव्यक्तिगत डेटा की श्रेणी में आता है।
  • निजी गैरव्यक्तिगत डेटा (Private Non-Personal Data)- अंततः निजी गैरव्यक्तिगत डेटा की श्रेणी में उस डेटा को शामिल किया गया है, जो कि एक व्यक्ति विशिष्ट के माध्यम से उत्पन्न होता है।
    • जैसे  गूगल, अमेज़न आदि कंपनियों द्वारा निर्मित डेटा।
  1. संवेदनशील गैरव्यक्तिगत डेटा (एनपीडी)
  • एनपीडी समिति ने पीडीपी बिल के तहत व्यक्तिगत डेटा के वर्गीकरण की तर्ज पर एनपीडी को भी सामान्य एनपीडी, संवेदनशील एनपीडी और अति  संवेदनशील एनपीडी में वर्गीकृत करने की सिफारिश की है।
  • संवेदनशीलता पर आधार पर  NPD के  भंडारण पर भी प्रतिबंध  लागू होंगे चाहिए

(a) सामान्य एनपीडी दुनिया में कहीं भी संग्रहीत किया जा सकता है;

(b) संवेदनशील NPD को भारत के बाहर स्थानांतरित किया जा सकता है, लेकिन इसे भारत में संग्रहीत किया जाना चाहिए

(c) अति संवेदनशील एनपीडी (अति संवेदनशील PD की परिभाषा के अधीन, जिसे अभी तक परिभाषित नहीं किया गया है) भारत में ही संग्रहीत किया जाना चाहिए

  1. एनपीडी पारिस्थितिकी तंत्र में विभिन्न भूमिकाएँ
  • डेटा प्रिंसिपल, डेटा कस्टोडियन, डेटा ट्रस्टी और डेटा ट्रस्ट की पहचान की गई है तथा उनकी भूमिकाओं को एनपीडी पारिस्थितिकी तंत्र में परिभाषित किया गया है।
  1. डेटा कारोबार (data businesses)’ की एक नई श्रेणी:
  • डेटा संग्रह या प्रसंस्करण में शामिल संस्थाओं को एकत्र / संसाधित डेटा की एक निश्चित सीमा के आधार परडेटा कारोबार/व्यवसायों (data businesses)’  के रूप में वर्गीकृत किया जाएगा।
  • डेटा व्यवसायों को कुछ विवरणों के साथ उपयोगकर्ता और समुदाय के बारे में मेटाडेटा (meta-data) प्रस्तुत करना होगा 
  • यह मेटाडेटा भारत में मेटाडेटा निर्देशिकाओं (meta-data directories) में डिजिटल रूप से संग्रहीत किया जाएगा, जो नागरिकों और संगठनों को डाटा की खुली पहुंच (open access) उपलब्ध कराएगा
  • इस मेटा डेटा के आधार पर, ‘संभावित उपयोगकर्ताउत्पादों और सेवाओं को विकसित करने के लिए कई डेटा व्यवसायों या सरकारों से प्राप्त डेटा के संयोजन से नए अवसरों की पहचान कर सकते हैं।
  1. एनपीडी नियामक प्राधिकरण:
  • रिपोर्ट में एक नए प्राधिकरण की स्थापना का भी सुझाव दिया गया है जिसके पास मुख्य तौर पर भारत में उत्पन्न हुआ गैरव्यक्तिगत डेटा के उपयोग और दोहन की निगरानी करने से संबंधित अधिकार होंगे।
  • एक प्रवर्तनीय भूमिका (यह सुनिश्चित करने के लिए कि NPD पारिस्थितिकी तंत्र के सभी हितधारक नियमों और विनियमों का पालन करते हैं, मान्य डेटा साझाकरण अनुरोधों को लागू करते हैं आदि  ) निभाने के साथसाथ यह  प्राधिकरण एकसक्षम भूमिकाभी अदा करेगा
  • इसके पास  जानकारी की कमी के संदर्भ में बाजार की असफलताओं को संबोधित करने की शक्ति होगी और डिजिटल और डेटा बाजारों में उचित और प्रभावी प्रतिस्पर्धा के साथ लेवल प्लेइंग फिल्ड सुनिश्चित करने का दायित्व भी होगा

भाग– II- रिपोर्ट की आलोचना कीजिए और आगे की राह पर प्रकाश डालिए?

Connecting the dots:

  • पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल 2019
  • यूरोपीय संघ डेटा संरक्षण कानून

(TEST YOUR KNOWLEDGE)


मॉडल प्रश्न: (You can now post your answer in comment section)

ध्यान दें

  • आज के प्रश्नों के सही उत्तर अगले दिन के डीएनए सेक्शन में दिए जाएंगे। कृपया उसे देखें और अपने उत्तर अपडेट करें
  • Comments Up-voted by IASbaba are also the “correct answers”

Q.1) सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियमनिम्नलिखित में से किस गतिविधियों पर रोक लगाता है?

  1. सभी सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान
  2. प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष विज्ञापन
  3. नाबालिगों को सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों की बिक्री
  4. किसी भी शैक्षणिक संस्थान के 100 गज के भीतर सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों की बिक्री।

निम्नलिखित कूट के माध्यम से सही उत्तर का  चयन  कीजिए :

  1. 1, 2 और 3
  2. 2, 3 और 4
  3. 1, 3 और 4
  4. उपर्युक्त सभी

Q.2) निम्नलिखित में से कौनसे युग्म सुमेलित हैं?

         (जनजाति): (राज्य)

  1. रेयांग: त्रिपुरा
  2. भूटिया: सिक्किम
  3. लेपचा:  अरुणाचल प्रदेश

सही कूट  का चयन कीजिए :

  1. 1 और 2
  2. 2 और 3
  3. 1 और 3
  4. उपर्युक्त सभी

Q.3) निम्नलिखित में से किस भारतीय ने एक पद्य में कोरिया कोपूर्व का दीपक (Lamp of the East)” के रूप में उल्लिखित किया था?

  1. रवीन्द्र नाथ टैगोर
  2. सुरेंद्रनाथ बनर्जी
  3. सुभाष चंद्र बोस
  4. बाल गंगाधर तिलक

Q.4) ओपन क्रेडिट एनेबलमेंट नेटवर्क (OCEN) के संदर्भ में, निम्नलिखित में से कौनसा एक कथन सही नहीं है:

  1. यह एक क्रेडिट प्रोटोकॉल इन्फ्रास्ट्रक्चर है।
  2. यह ऋण लेनदेन को लोकतांत्रिक करेगा तथा छोटे उधारकर्ताओं को आसानी से धन प्राप्त करने में सक्षम बनायेगा।
  3. यह बड़े पैमाने पर उधारदाताओं, उपयोग करने वाले मार्केटप्लेस, नवाचार, वित्तीय ऋण उत्पादों के बीच एक आम भाषा के रूप में कार्य करेगा।
  4. यह देश में अकाउंट एग्रीगेटर (AA) मॉडल को संचालित करने के लिए बनाया गया निकाय है

ANSWERS FOR 23rd July 2020 TEST YOUR KNOWLEDGE (TYK)

1 A
2 C
3 D
4 B

अवश्य पढ़ें

भारत और गुटनिरपेक्षता के बारे में:

The Hindu

अमेरिका-चीन तनावों के बारे में:

The Hindu

उत्तर-पूर्व में शांति समझौते के बारे में:

The Indian Express

For a dedicated peer group, Motivation & Quick updates, Join our official telegram channel – https://t.me/IASbabaOfficialAccount

Search now.....